SGNR

‘परेशान करने वाले कार्मिकों के खिलाफ करें कार्रवाई’ -राजस्व शिविरों में जिला परिषद के कार्यों पर कलक्टर ने जताई असंतुष्टि

श्रीगंगानगर। गांवों में जब बिजली की सप्लाई 24 घंटे हो रही है तो फिर लोगों को पीने का पानी कभी रात को 12 बजे तो कभी दोपहर में 1 बजे क्यों दिया जा रहा हैï? जानबूझ कर पब्लिक को परेशान करने वाले कार्मिकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। ये कहना था जिला कलक्टर ज्ञानाराम का जो बुधवार को जिला कलक्ट्रेट सभागार में बिजली, पानी, मौसमी बिमारियों, सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं आदि को लेकर आयोजित जिला स्तरीय बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।
कलक्टर ने बताया कि मंगलवार को जब वो करणपुर की ग्राम पंचायत अरायण में रात्रि चौपाल को गए तो वहां लोगों ने कभी रात को तो कभी दोपहर में पीने का पानी आने की शिकायत की, जबकि वहां बिजली की सप्लाई 24 घंटे हैं। जिला कलक्टर ने एसई पीएचईडी को निर्देशित किया कि जिले में बिजली की सप्लाई 24 घंटे हैं लिहाजा पीने के पानी की सप्लाई सुबह-शाम ही करवाएं, लोगों को अनावश्यक परेशान ना करें। कलक्टर ने मुख्यमंत्राी जनसंवाद कार्यक्रम में आई परिवेदनाओं के निस्तारण की समीक्षा करने के अलावा राजस्व लोक अदालत अभियान-न्याय आपके द्वार, सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं, समेत सभी विभागों की समीक्षा की।
मुख्यमंत्री जनसंवाद कार्यक्रम में आई परिवेदनाओं की समीक्षा करते हुए कलक्टर ने कहा कि जिन परिवेदनाओं का निस्तारण किया जा चुका है उनका वेरिफिकेशन जरूर कर लें।
हमें धूप में बिठा देते हैं एसडीएम
पशुपालन विभाग और चिकित्सा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि शिविरों से शिकायत आ रही है कि कई जगह शिविर प्रभारी उपखंड अधिकारी इन दोनों विभागों के अधिकारियों को जरूरत नहीं बता कर बाहर धूप में बिठा रहे हैं। इस पर कलक्टर ने एडीएम को निर्देशित किया कि सभी एसडीएम को इस बारे में पाबंद करें कि वो संबंधित ग्राम पंचायत के जरिए सभी विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए बैठने की सही व्यवस्था करवाएं।
बहानेबाजी नहीं चलेगी
करणपुर की ग्राम पंचायत अरायण में सीनियर सैंकेडरी स्कूल से 8 पंखे चोरी होने के मामले में जिला कलक्टर ने डीवाईएसपी को इस मामले में एफआईआर दर्ज करवाने के निर्देश देते हुए आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए। साथ ही अरायण गांव में रात्रि चौपाल के दौरान परचून की दुकानों पर नशे की गोलियां मिलने की शिकायत आने पर कलक्टर ने इसे गंभीर मामला बताते हुए ड्रग इंस्पेक्टर से नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि बहानेबाजी नहीं चलेगी।
किसानों को मिले खराबे का क्लेम
फसल बीमा मामले में जिला कलक्टर ने कृषि विभाग और बैंक के अधिकारियों से नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि जब बीमा कंपनी को किश्त काटनी होती है तो कभी कोई दिक्कत नहीं आती, लेकिन जब किसान फसल खराबे पर क्लेम मांगता है तो दोनों विभाग एक दूसरे पर टालमटोल करते नजर आते हैं। जिला कलक्टर ने दोनों विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वो एडीएम के साथ बैठकर इस बारे में समाधान निकालें। बैठक में जिला कलक्टर सहितअन्य जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।

Amit Khan
I am a enthusiastic journalist and work for day and night to aware people about new events and local problems about your city and state.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *