National

पहले गाल सहलाया, अब मांगी माफी -गाल सहलाने के विवाद पर बोले राज्यपाल: मैंने आपको पोती समझा

नई दिल्ली। राजभवन में प्रेस कॉन्फे्रंस के दौरान मंगलवार को महिला पत्रकार के गाल सहलाने के बाद मचे बवाल के एक दिन बाद राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने बुधवार को माफी मांग ली। गौरतलब है कि प्रेस कॉन्फे्रंस के दौरान उन्होंने एक महिला पत्रकार के सवाल पर उसकी गाल थपथपा दी। महिला पत्रकार की मांग पर राज्यपाल की तरफ से यह माफी उस वक्त मांगी गई है जब लक्ष्मी सुब्रमण्यम ने एक तस्वीर को ट्वीट किया। इसमें राज्यपाल उसके गाल को सहलाते हुए देखे जा रहे थे। लक्ष्मी ने राज्यपाल के इस व्यवहार पर हैरानी जताई थी।
राज्यपाल पुरोहित की तरफ से लक्ष्मी सुब्रमण्यम को यह लिखा गया- ‘मैने आपके गाल पर थपकी अपनी पोती की तरह समझकर दी। मैने पत्रकार के तौर पर आपके प्रदर्शन की सराहना के तौर पर ऐसा किया क्योंकि मैं खुद भी उसी पेशे के सदस्य के तौर पर 40 वर्षों तक रहा हूं।’ हालांकि, पत्रकार ने ट्वीटर कर यह कहा कि राज्यपाल की तरफ से मांगी गई माफी को वह स्वीकार तो करती हैं लेकिन वह राज्यपाल पुरोहित की तर्कों से सहमत नहीं हैं।
प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान सहलाया गाल
बनवारी लाल पुरोहित मंगलवार को राजभवन में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पत्रकार का गाल सहला दिया था। यह प्रेस कॉन्फ्रेंस विरुद्धनगर की एक महिला प्रोफेसर की गिरफ्तार की बाद बुलाई गई थी, जिसे कॉलेज की छात्रों को अधिकारियों के साथ एडजस्ट करने के बदले अच्छे नंबर और पैसे देने का प्रलोभन दिया जा रहा था। उस महिला प्रोफेसर ने अपने आपको पुरोहित की काफी करीबी होने का दावा किया था। बनवारी लाल ने सभी तरह के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया। लेकिन, प्रेस कॉन्फे्रंस के आखिर पर राज्यपाल की तरफ से सुब्रमण्यम के गाल को सहलाने पर पत्रकारों और राजनेताओं में जबरदस्त गुस्सा भडक़ उठा। महिला पत्रकार के मुताबिक, इस घटना के बाद उसने कई बार अपना मुंह धोया, लेकिन वो इस बात को भुला नहीं पा रही थी।

Amit Khan
I am a enthusiastic journalist and work for day and night to aware people about new events and local problems about your city and state.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *